USG TVS Test Meaning, Full Form, Why is TVS Ultrasound Test Done, Results, More

टीवीएस यूएसजी स्कैन ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड स्कैन के लिए है। ट्रांसवेजिनल शब्द वैजाइना  के माध्यम से डाली गई किसी भी चीज को संदर्भित करता है। यह एक अल्ट्रासोनोग्राफी टेस्ट है जिसमें महिला की वैजाइना के माध्यम से जांच  की जाती है। यह आमतौर पर फीमेल रिप्रोडक्टिव ट्रैक्ट में असामान्यताओं का पता लगाने, गर्भावस्था की पुष्टि करने और भ्रूण की भलाई सुनिश्चित करने के लिए उपयोग किया जाता है। स्कैन के परिणाम गर्भावस्था के दौरान जटिलताओं, गर्भाशय या अंडाशय की स्थिति जैसे फाइब्रॉएड या कैंसर जैसी समस्याओं का विश्लेषण करने में आपके डॉक्टर की सहायता कर सकते हैं। चूंकि अल्ट्रासाउंड किसी भी हानिकारक रेडिएशन्स का उत्सर्जन नहीं करता है, यह आमतौर पर गर्भावस्था के दौरान स्क्रीनिंग का तरीका है।

 ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड वास्तव में क्या है? (What exactly is a transvaginal ultrasound?)

ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड या टीवीएस यूएसजी को विस्तार से समझने के लिए, हमें पहले अल्ट्रासाउंड टेस्ट के  प्रिंसिपल को समझना होगा।

कन्वेंशनल  अल्ट्रासाउंड(Conventional ultrasound)

कन्वेंशनल  अल्ट्रासाउंड एक रूटीन रेडियोलॉजिकल इमेजिंग प्रक्रिया है जिसका उपयोग शरीर के विभिन्न आंतरिक अंगों की जांच के लिए किया जाता है। अल्ट्रासाउंड ट्रांसड्यूसर हाई -फ्रीक्वेंसी वाली साउंड वेव्स पैदा करता है। ये साउंड वेव्स शरीर के विभिन्न अंगों से टकराकर रिफ्लेक्ट होती हैं। इन प्रतिध्वनित (echoed)साउंड वेव्स का विश्लेषण किया जाता है, जिससे डिस्प्ले स्क्रीन पर एक इमेज बनती है।  इस इमेज को सोनोग्राम के रूप में जाना जाता है। वास्तविक समय में आंतरिक शरीर के अंगों की चलती इमेजेज  को देखने के लिए भी इस अल्ट्रासाउंड का उपयोग किया जाता है।

 ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड (A transvaginal ultrasound)

ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड के पीछे का प्रिंसिपल रूटीन अल्ट्रासाउंड के समान है, लेकिन प्रक्रिया पूरी तरह से अलग है।  स्टैण्डर्ड अल्ट्रासाउंड आमतौर पर बाहरी रूप से किया जाता है, जबकि ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड तकनीशियन या रेडियोलॉजिस्ट के द्वारा अल्ट्रासाउंड प्रोब वैजाइनल कैनाल के अंदर डालकर किया  जाता है। आंतरिक अंगों को अधिक स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है क्योंकि प्रोब वैजिनल  कैनाल के अंदर दो से तीन इंच तक डाली जाती है।

 ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड कैसे सहायक है? (How is a transvaginal ultrasound helpful?)

  •  ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड विभिन्न महिला जेनिटोयूरिनरी  अंगों जैसे योनि गर्भाशय ग्रीवा(cervix), गर्भाशय , यूरिनरी  ट्रैक्ट, फैलोपियन ट्यूब और ओवरीज़  की विस्तृत इमेजेज प्रदान कर सकता है।
  • यह  ओवरीज़ और गर्भाशय जैसे महिला प्रजनन अंगों के आकार, स्थिति या आकार में परिवर्तन को भी देखता है।
  •  ओवरीज़ कभी-कभी सिस्ट विकसित कर सकते हैं, और ट्रांसवेजाइनल अल्ट्रासाउंड उनका पता लगाने में भी मदद कर सकता है।
  • यह  यूरिनरी ब्लैडर वाल्स  की  थिकनेस निर्धारित करने में सहायक है।
  • इसका उपयोग मायोमेट्रियम या एंडोमेट्रियम सहित गर्भाशय की वाल्स की  थिकनेस का पता करने के लिए भी किया जाता है।
  • यह गर्भावस्था का जल्द पता लगाने में मदद कर सकता है।

मुझे ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड की आवश्यकता क्यों है? (Why do I need a transvaginal Ultrasound?

जब कोई रोगी इस तरह के लक्षण बताता है तो डॉक्टर द्वारा एक ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड बताया  जा सकता है:

  • अत्यधिक पैल्विक दर्द
  • स्पॉटिंग 
  • बांझपन
  • मेनोपॉज के बाद ब्लीडिंग
  • एंडोमेट्रिओसिस
  • सर्विक्स में सूजन
  • गर्भाशय या  ओवरीज़  में फाइब्रॉएड, सिस्ट या असामान्य द्रव्यमान ( abnormal masses ) के लक्षणों की उपस्थिति।

गर्भावस्था (Pregnancy)

गर्भावस्था के दौरान टीवीएस यूएसजी काफी उपयोगी साबित होता है।

  • गर्भावस्था के दौरान, भ्रूण के दिल की धड़कन की निगरानी के लिए स्कैन उपयोगी होता है।
  • यह डिलीवरी की तारीख निर्धारित करने और प्लेसेंटा के स्थान और स्थिति को समझने में भी मदद कर सकता है।
  • महिलाओं में, टीवीएस स्कैन अस्थानिक(ectopic)  गर्भावस्था का निर्धारण और जांच भी करता है
  • उच्च जोखिम वाले गर्भधारण में, यह आमतौर पर अनुवर्ती  कार्रवाई (routine investigation) के लिए नियमित जांच के रूप में किया जाता है

ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड की प्रक्रिया क्या है? (What is the procedure of a transvaginal ultrasound?)

टीवीएस यूएसजी की प्रक्रिया इस प्रकार है:

  • रोगी को पहले एक टेबल पर लेटा दिया जाता है और उसे कमर से नीचे के कपड़े उतारने के लिए कहा जाता है और एक चादर से ढक दिया जाता है।
  • एक कुशल तकनीशियन द्वारा योनि में एक ट्रांसड्यूसर डाला जाता है। ट्रांसड्यूसर पर एक जैल लगा होता है, जो लुब्रीकेंट के रूप में कार्य करता है, और आमतौर पर लेटेक्स से बनी एक शीथ भी ट्रांसड्यूसर के ऊपर रखी जाती है।
  • प्रोब आपकी वेजाइना में प्रवेश करता है तो थोड़ी परेशानी की उम्मीद की जा सकती है, लेकिन यह आमतौर पर थोड़े समय तक रहती है।
  • ट्रांसड्यूसर ध्वनि तरंगें (sound waves) भेजता है जो विभिन्न अंगों से टकराने पर एक प्रतिध्वनि (echo) उत्पन्न करती हैं और वापस परावर्तित(reflect) हो जाती हैं।
  • इस ट्रांसड्यूसर को अधिक और बेहतर  जैसे योनि गर्भाशय ग्रीवा(cervix), गर्भाशय , यूरिनरी  ट्रैक्ट, फैलोपियन ट्यूब और ओवरीज़  की विस्तृत इमेजेज प्राप्त करने के लिए विभिन्न एंजिल्स पर घुमाया जाता है, जिससे पूरे क्षेत्र की छवियों की जांच की जाती है।

वास्तविक समय में डॉक्टर और तकनीशियन इमेजेज को देख सकते हैं। पूरी प्रक्रिया में बहुत कम समय लगता है और इसे 15-30 मिनट में पूरा किया जा सकता है।

ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड के परिणाम? (Results of a transvaginal ultrasound?)

टीवीएस यूएसजी स्कैन के परिणामों की व्याख्या करते समय किसी भी असामान्यता को नार्मल कंडीशन से अलग करना महत्वपूर्ण है। चूंकि स्कैन रीयल-टाइम इमेजिंग प्रदान करता है, डॉक्टर या रेडियोलॉजिस्ट तभी वहां असामान्यताओं की तलाश कर सकते हैं और तुरंत रिपोर्ट प्रदान कर सकते हैं।

निष्कर्ष (take away )

ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड एक सोफिस्टिकेटेड प्रक्रिया है जो गर्भावस्था के शुरुआती निदान(diagnosis) और गर्भाशय की आंतरिक जांच में मदद करती है। यह पेल्विक रीजन की इमेजेज प्रदान करता है और बिना किसी हानिकारक विकिरण के ट्यूमर, फाइब्रॉएड और सिस्ट का पता लगाने में मदद करता है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न? (FAQs?)

1.क्या ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड दर्दनाक है?

एक ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड की प्रक्रिया आम तौर पर दर्दनाक नहीं होती है। यह स्टैण्डर्ड अल्ट्रासाउंड की तुलना में थोड़ा अधिक इनवेसिव है। ट्रांसड्यूसर डालने पर महिलाओं को थोड़ी परेशानी का अनुभव हो सकता है, लेकिन यह थोड़े समय के बाद कम हो जाता है।

2.क्या गर्भावस्था के दौरान ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड सुरक्षित है?

गर्भावस्था के दौरान, ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड प्रक्रिया पूरी तरह से सुरक्षित है। ट्रांसड्यूसर को वेजाइना  में डाला जाता है और यह किसी भी तरह से भ्रूण के स्वास्थ्य को प्रभावित नहीं करता है। 

3.मैं ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड कहां करवा सकती हूं?

ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड कई अस्पतालों, क्लीनिकों और डायग्नोस्टिक लैबोरेट्रीज में उपलब्ध है। रेडक्लिफ ट्रांसवेजिनल अल्ट्रासाउंड स्क्रीनिंग प्रक्रियाओं के लिए उच्च गुणवत्ता वाली डायग्नोस्टिक सुविधा प्रदान करता है। एक साधारण ऑनलाइन बुकिंग प्रणाली, विश्वसनीय स्टाफ और एफडीए द्वारा अप्रूव्ड तकनीकों के साथ, रेडक्लिफ निदान के क्षेत्र में एक लीडिंग नाम है।टीवीएस यूएसजी आसानी से बुक करने के लिए आप हमारी वेबसाइट पर जा सकते हैं या हमारे हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर सकते हैं।

Prekshi Garg is a young, dynamic, energetic, and meritorious professional biotechnologist. She is a merit rank holder in her post-graduation and a skilled bioinformatician with great zeal to do her best in neurosciences. She is currently working in the area of Neurotranscritomics dealing with neurodevelopmental and neurodegenerative disorders. She has presented many papers at different scientific forums and is awarded ‘Representing the Institution in Scientific Events’ citation by Amity University Uttar Pradesh and Top position in Student Assistantship Program held at Amity University in addition to awards won for oral presentations in different scientific deliberations. Prekshi has published a good number of papers and book chapters during the start of her academic career itself. Her tremendous skills and knowledge make her a good blend of biotechnology and bioinformatics.

Leave a Reply

Your email address will not be published.