गाउट-(वातरक्त)-क्या-होता-है

गाउट (Gout) गठिया (arthritis) का एक दर्दनाक (painful) रूप है। जब आपके शरीर में अतिरिक्त यूरिक एसिड (excess uric acid) होता है, तो पैर के अंगूठे (toe) या अन्य जोड़ों (joints) में तेज क्रिस्टल (sharp crystals) बन सकते हैं, जिससे सूजन (swelling) और दर्द (pain) होता हैं जिन्हें गाउट अटैक (gout attack) कहा जाता है। गाउट का इलाज दवाओं (medicines), आहार (diet) और जीवनशैली में बदलाव (lifestyle changes) से किया जा सकता है।

Prime Full body Check Up

Offer Price:

₹399₹2010
Book Health Test
  • Total no.of Tests - 76
  • Quick Turn Around Time
  • Reporting as per NABL ISO guidelines

गठिया क्या है? (What is gout?)

डॉक्टर गाउट को “गठिया (arthritis)” के नीचे रखते हैं, गठिया (Arthritis) जोड़ों के रोगों (joint diseases) और जोड़ों के दर्द (joint pain) की एक विस्तृत श्रृंखला (wide range) है। गठिया के कुछ रूप में जोड़ों में सूजन (swelling) आती हैं, जबकि अन्य में नहीं आती हैं। गठिया सूजन, गठिया का एक सामान्य रूप है। यह यूरिक एसिड (uric acid) नामक क्रिस्टल के कारण होता है।

गठिया एक या अधिक जोड़ों में दर्द और सूजन का कारण बनता है। यह आमतौर पर पैर की बड़ी अंगुली को प्रभावित करता है। लेकिन यह घुटने (knee), टखने (ankle), पैर, हाथ, कलाई (wrist) और कोहनी (elbow) सहित अन्य जोड़ों में भी पाया जाता है।

गठिया से कौन प्रभावित होता है? (Who is affected by gout?)

गठिया किसी को भी प्रभावित (affect) कर सकता है। यह आमतौर (usually) पर महिलाओं की तुलना में पुरुषों में पहले होता है। यह बिमारी (disease) आमतौर पर महिलाओं में मीनोपॉज (menopause) के बाद शुरू होती है। महिलाओं की तुलना में पुरुषों को इसके होने की संभावना तीन गुना अधिक हो सकती है क्योंकि उनके शरीर में यूरिक एसिड का स्तर (uric acid level) अधिक होता है। मीनोपॉज (menopause) के बाद महिलाएं इन यूरिक एसिड के स्तर तक पहुंच जाती हैं।

लोगों को गाउट होने की संभावना अधिक होती है यदि वे:-

  • मोटापा (Obesity), या बहुत अधिक अतिरिक्त वजन (extra weight) से परेशान हैं
  • कोंजेस्टिव दिल विफलता (congestive heart failure)
  • मधुमेह (diabetes)
  • गठिया का पारिवारिक इतिहास (Family history of arthritis)
  • उच्च रक्तचाप (हाइपरटेंशन) (High blood pressure (hypertension))
  • गुर्दे की बीमारी (Kidney disease)
आपको गाउट विकसित होने की अधिक संभावना है यदि आप:-
  • पशु प्रोटीन में उच्च आहार का सेवन करते है (Eat a diet high in animal protein)
  • बड़ी मात्रा में शराब का सेवन करते है (drink large amounts of alcohol)
  • पानी की गोलियों (मूत्रवर्धक) पर हैं (Are on water pills (diuretics))।

गाउट रोग के लक्षण और कारण (symptoms and causes)

मानव शरीर में कुछ खाद्य (foods) और पेय पदार्थों (beverages) में पाए जाने वाले प्यूरीन (purines) नामक रसायनों (chemicals) के टूटने (breakdown) के दौरान यूरिक एसिड बनाता है। यह सामान्य उपोत्पाद (byproduct) गुर्दे के माध्यम से (through the kidneys) जाता है और पेशाब करते समय शरीर से बाहर निकल जाता है।

कभी-कभी शरीर बहुत अधिक यूरिक एसिड का उत्पादन (produces) करता है। या गुर्दे (kidneys) इसे संभालने का काम अच्छे से नहीं कर पाते है। उस समय शरीर में यूरिक एसिड या हाइपरयूरिसीमिया (hyperuricemia) का स्तर उच्च होता है, तो यूरिक एसिड क्रिस्टल (uric acid crystals) जोड़ों में केंद्रित (concentrated) हो सकते हैं। नुकीले (sharp), सुई जैसे क्रिस्टल (needle-like crystals) गाउट (gout) का कारण बनते हैं। हालांकि, उच्च यूरिक एसिड के स्तर (high uric acid) वाले कई लोगों को कभी गठिया नहीं होता है।

गठिया के लक्षण क्या हैं? (What are the symptoms of gout?)

गाउट के एक प्रकरण (episode) को गाउट अटैक (gout attack) कहा जाता है। गाउट के हमले बहुत दर्दनाक (painful) होते हैं और यह अचानक (suddenly) कभी भी हो सकता है, अक्सर रात भर में (often overnight)। गाउट के हमले के दौरान, प्रभावित जोड़ (affected joint) में निन्मलिख लक्षण दिखा सकते हैं:

  • तेज़ दर्द (Sharp pain)
  • लालपन (Redness)
  • कठोरता (hardness)
  • सूजन (swelling)
  • कोमलता (Softness), यहाँ तक कि हल्के स्पर्श (lightest touch) तक, जैसे कि चादर (sheet) से
  • गर्मी, या आग लग रही है ऐसा लगना (Feeling like there is heat, or fire)।

गाउट के हमले कितनी बार होते हैं? (How often do gout attacks occur?)

कुछ लोगों को अक्सर गाउट का दौरा पड़ता है, जबकि अन्य को इस प्रकरण (episodes) के बीच वर्षों लग जाते हैं। यदि गाउट का इलाज नहीं किया जाता है, तो यह हमले अधिक हो सकते हैं और लंबे समय तक चल सकते हैं। गाउट के हमले एक ही जोड़ में बार-बार भी हो सकते हैं या विभिन्न जोड़ों (different joints) को प्रभावित (affect) कर सकते हैं।

Why Choose Redcliffelabs?

Redcliffe Labs is India’s fastest growing diagnostics service provider having its home sample collection service in more than 60 cities with 20+ labs across India.

NABL accredited labs

Most affordable Prices

Free Home Sample Pickup

Painless Sample Collection

Get Reports In 24 hours

Free Consultation

गाउट रोग निदान और परीक्षण (gout diagnosis and testing)

यदि आपको जोड़ों में अचानक या तेज (sudden or severe) दर्द होता है, तो आपको अपने प्राथमिक देखभाल प्रदाता (primary care provider) (पीसीपी/PCP) से बात करनी चाहिए। आपका पीसीपी (PCP) आपको रुमेटोलॉजिस्ट (rheumatologist) के पास भेज सकता है, जो गाउट (gout) और अन्य प्रकार के गठिया (arthritis) के विशेषज्ञ (specializes) होते हैं।

गाउट की पुष्टि (confirming) करते समय स्वास्थ्य सेवा प्रदाता (Healthcare providers) कई बातों पर विचार करते हैं:-

  • लक्षण (Symptoms): प्रदाता (provider) आपको अपने लक्षणों (symptoms) का वर्णन (describe) करने के लिए कहेगा कि वे कितनी बार (often) होते हैं और कितने समय तक चलते हैं
  • शारीरिक परीक्षण (Physical examination): आपका प्रदाता सूजन (swelling), लालिमा (redness) और गर्मी (warmth) की जांच के लिए प्रभावित जोड़ (affected joint) की जांच करेगा
  • रक्त कार्य (Blood work): यह परीक्षण (test) आपके रक्त में यूरिक एसिड (uric acid) की मात्रा को माप सकता है
  • इमेजिंग परीक्षण (Imaging tests): इस परिक्षण से आपके पास एक्स-रे (X-ray), अल्ट्रासाउंड (ultrasound) या एमआरआई (MRI) के साथ प्रभावित जोड़ (affected joint) की तस्वीरें हो सकती हैं
  • एस्पिरेशन (Aspiration): प्रदाता जोड़ से तरल पदार्थ (fluid) खींचने के लिए सुई (needle) का उपयोग कर सकता है। माइक्रोस्कोप (microscope) का उपयोग करके, टीम का एक सदस्य यूरिक एसिड क्रिस्टल (uric acid crystals) (गाउट की पुष्टि (confirmed gout)) या एक अलग समस्या (different problem) (जैसे संक्रमण या अन्य प्रकार के क्रिस्टल वाले बैक्टीरिया (such as an infection or bacteria with other types of crystals)) की तलाश कर सकता है।

गाउट का इलाज कैसे किया जाता है? (How is gout treated?)

आपका स्वास्थ्य सेवा प्रदाता (healthcare provider) गाउट के इलाज के लिए कुछ दवाएं लिख सकता है। ये कुछ दवाएं इन लक्षणों को नियंत्रित करने में मदद करती हैं:

1. NSAIDs दर्द और सूजन को कम कर सकते हैं। गुर्दे की बीमारी (kidney disease), पेट के अल्सर (stomach ulcers) और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं वाले कुछ लोग एनएसएआईडी (NSAIDs) लेने में असमर्थ हैं।

यदि आप गठिया के दौरे के 24 घंटों के भीतर इसे लेते हैं तो Colchicine सूजन और दर्द को कम कर सकता है। यह मुंह से दिया जाता है।

2. कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स (Corticosteroids) दर्द और सूजन से राहत दिला सकते हैं। आप स्टेरॉयड (steroids) मुंह से या इंजेक्शन (injection) के साथ लेते हैं।

दवाएं जो आपके शरीर में यूरिक एसिड (uric acid) के निम्न स्तर को गाउट के हमलों के भविष्य के एपिसोड (future episodes) को रोकने या कम करने में मदद करती हैं:-

  • एलोप्यूरिनॉल (Allopurinol), गोली के रूप में लिया जाता है
  • फेबुक्सोस्टैट (Febuxostat), गोली के रूप में लिया जाता है
  • पेग्लोटिकेज़ (Pegloticase), एक अंतःशिरा (intravenous) (नस में) जलसेक (infusion) के रूप में दिया जाता है
  • प्रोबेनेसिड (Probenecid), एक गोली के रूप में लिया जाता है।

Vital Screening Package

Offer Price:

₹399₹1810
Book Your Test
  • Total no.of Tests - 81
  • Quick Turn Around Time
  • Reporting as per NABL ISO guidelines

निष्कर्ष (Conclusion)

गाउट गठिया (arthritis) का एक दर्दनाक रूप है। आपके शरीर में अतिरिक्त यूरिक एसिड जोड़ों में तेज क्रिस्टल (harp crystals) बनाता है, जिससे सूजन और अत्यधिक कोमलता (swelling and extreme tenderness) होती है। गाउट आमतौर पर पैर के बड़े अंगूठे में शुरू होता है लेकिन अन्य जोड़ों को प्रभावित (affect) कर सकता है।

गाउट एक इलाज योग्य स्थिति (treatable condition) है, और यूरिक एसिड के स्तर (uric acid levels) को दवा और जीवनशैली में बदलाव (medication and lifestyle changes) से कम किया जा सकता है। अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से उन दवाओं के बारे में बात करें जो यूरिक एसिड के स्तर (uric acid level) को कम कर सकती हैं। वे गाउट के हमलों को रोकने और कम करने के लिए अपने आहार और जीवनशैली में किए जा सकने वाले परिवर्तनों (changes) पर भी चर्चा कर सकते हैं।

सामान्य पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ’s)

#1. क्या मैं गठिया को रोक सकता हूँ? (Can I Prevent Arthritis?)

गाउट को रोकने में मदद के लिए आप कुछ जीवनशैली (lifestyle) में बदलाव कर सकते हैं:-

  • अपने गुर्दे (kidneys) को बेहतर ढंग से काम करने (function optimally) और निर्जलीकरण (dehydration) से बचने में मदद करने के लिए खूब पानी पिएं
  • स्वस्थ वजन पर (healthy weight) बने रहने के लिए नियमित रूप से (regularly) व्यायाम (exercise) करें। अतिरिक्त वजन (excess weight) आपके शरीर में यूरिक एसिड (uric acid) को बढ़ाता है और जोड़ों (joints) पर अधिक दबाव (pressure) डालता है।

अपने शरीर में प्यूरीन (purines) को सीमित (limit) करने की पूरी कोशिश करें, क्योंकि ये रसायन यूरिक एसिड बिल्डअप को ट्रिगर (chemicals can trigger uric acid buildup) कर सकते हैं। उच्च प्यूरीन स्तर (high purine levels include) वाले खाद्य और पेय (Foods and drinks) में शामिल (include) हैं:-

  • शराब (Liquor)
  • लाल मांस और अंग मांस (Red meat and organ meats) (यकृत (liver), उदाहरण के लिए)।
  • शंख (shell)
  • ग्रेवी (Gravy)
  • फ्रुक्टोज (fructose) (फलों की चीनी) में उच्च पेय और खाद्य पदार्थ (Drinks and foods)
  • पशु स्रोतों से प्रोटीन (Protein from animal sources)। जानवरों के मांस से सभी प्रोटीन (proteins from animal meats) संभावित रूप से (potentially) ऊंचा यूरिक एसिड के स्तर (elevated uric acid levels) को जन्म दे सकते हैं।

कुछ दवाएं यूरिक एसिड के स्तर को बढ़ा सकती हैं। इन दवाओं में शामिल हैं:-

  • मूत्रवर्धक (Diuretics), जिसे “पानी की गोलियाँ (water pills)” के रूप में भी जाना जाता है
  • इम्यूनोसप्रेसेन्ट्स (Immunosuppressants), या दवाएं जो प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system) को धीमा करती हैं (उदाहरण के लिए अंग प्रत्यारोपण (organ transplants) में आम)
  • दृष्टिकोण (outlook) / पूर्वानुमान (forecast)
#2. गाउट के लक्षणों के बारे में मुझे अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता को कब कॉल करना चाहिए?  (When should I call my healthcare provider about gout symptoms?)

यदि आप जोड़ों में अचानक, तीव्र (sudden, intense) दर्द का अनुभव करते हैं, तो तुरंत एक स्वास्थ्य सेवा प्रदाता (healthcare provider) को फोन करें। यदि जोड़ गर्म और सूज (hot and swollen) गया है, तो आपको गाउट हो सकता है – या आपको संक्रमण (infection) जैसी कोई अन्य समस्या (another problem) हो सकती है।

#3. गाउट वाले लोगों के लिए क्या दृष्टिकोण है? (What is the outlook for people with gout?)

अनुपचारित गाउट (Untreated gout) से स्थायी संयुक्त क्षति (permanent joint damage) हो सकती है। जोड़ों और कोमल ऊतकों (joints and soft tissues) में यूरिक एसिड (uric acid) के निर्माण (buildup) को टोफस (tophus) कहा जाता है। गाउट वाले कुछ लोग अन्य स्वास्थ्य समस्याओं (other health problems) को भी विकसित (develop) कर सकते हैं, जैसे कि गंभीर गठिया (severe arthritis), गुर्दे की पथरी (kidney stones) और हृदय रोग (heart disease)। स्वास्थ्य सेवा प्रदाता (healthcare provider) के साथ अपने लक्षणों (symptoms) पर चर्चा करना महत्वपूर्ण (important) है।

#4. मैं गठिया के हमले का प्रबंधन कैसे कर सकता हूं? (How can I manage a gout attack?)

जब आपको गाउट का दौरा पड़ता है, तो आप निम्न द्वारा अपने लक्षणों का प्रबंधन (manage your symptoms) कर सकते हैं:-

  • शराब और मीठे पेय से परहेज (Avoiding alcohol and sweet drinks)
  • बहुत सारे तरल पदार्थ पीना (Drink lots of fluids)।
  • जोड़ को ऊपर उठाना (Raising the joint(s))
  • जोड़ पर बर्फ लगाना (Applying ice to the joint)
  • संयुक्त पर किसी भी तनाव को सीमित करना (Limiting any stress on the joint(s))।
#5. गाउट के बारे में मुझे अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से और क्या पूछना चाहिए? (What else should I ask my healthcare provider about gout?)

अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से पूछने पर विचार (Consider) करें:-

  • गठिया का कारण क्या है? (What is the cause of gout?)
  • क्या मुझे कोई जोड़ क्षति है? (Do I have any joint damage?)
  • भविष्य के हमलों को रोकने के लिए मैं क्या कर सकता हूं? (What can I do to prevent future attacks?)
  • क्या कोई गाउट दवाएं मेरी मदद कर सकती हैं? (Can any gout medicines help me?)
  • मुझे कब तक गाउट की दवाएं लेने की आवश्यकता होगी? (How long will I need to take gout medicines?)

Prime Full body Check Up

Offer Price:

₹399₹2010
Book Test Now
  • Total no.of Tests - 76
  • Quick Turn Around Time
  • Reporting as per NABL ISO guidelines
Share

Ms. Srujana is Managing Editor of Cogito137, one of India’s leading student-run science communication magazines. I have been working in scientific and medical writing and editing since 2018. I am also associated with the quality assurance team of scientific journal editing. I am majoring in Chemistry with a minor in Biology at IISER Kolkata.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Free Call back from our health advisor instantly