898 898 8787

कुछ टेस्ट जो बताएगा हार्ट अटैक आ सकता है या नहीं - MyHealth

Hindi

कुछ टेस्ट जो बताएगा हार्ट अटैक आ सकता है या नहीं

author

Medically Reviewed By
Dr. Ragiinii Sharma

Written By Srujana Mohanty
on Sep 19, 2022

Last Edit Made By Srujana Mohanty
on Mar 18, 2024

share
एक-टेस्ट-और-पता-चल-जाएगा,-हार्ट-अटैक-आ-सकता-है-या-नहीं
share

आप कभी भी अपने दिल की सेहत के बारे में पूरी तरह से जागरूक (aware) नहीं होते हैं। और आप कभी नहीं जानते कि अगले पल आपके साथ क्या होने वाला है। हमारे आज की जीवनशैली और खानपान को देखते हुए हमें हमारी सेहत को नजरअंदाज (ignore) नहीं करना चाहिए क्यूंकि यह बहुत खतरनाक (dangerous) हो सकता है। तो अपने दिल की सही देखभाल करने के लिए कुछ ऐसे टेस्ट होते हैं जो आपको बता देंगे कि आपको हार्ट अटैक (heart attack) हो रहा है या नहीं।

अगर आपको कभी भी दिल का दौरा (heart attack) पड़ने का संदेह है, तो आपको तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया जाना चाहिए। निदान की पुष्टि करने और उपचार शुरू करने के लिए आपको आमतौर पर एक्यूट कार्डियक केयर यूनिट (acute cardiac care unit) (एसीसीयू) (ACCU), या सीधे कार्डियक कैथीटेराइजेशन यूनिट (cardiac catheterization unit) में भर्ती कराया जाएगा। हृदय रोग (Heart disease) विकासशील भारत में उभरती स्वास्थ्य समस्याओं में से एक बन गया है।

आजकल दिल की समस्या काफी आम हो गया हैं और न सिर्फ बुर्जुग बल्कि युवा भी दिल की समस्या का शिकार हो रहे हैं और अतः आपको अपने दिल से सम्बंधित किसी भी प्रकार की समस्या के लिए तुंरत अपना परिक्षण करवाना चाहिए।अगर आप अपने दिल से जुड़े टेस्ट करवाना चाहते हैं तो आज ही रेडक्लिफ लैब्स से संपर्क कर अपना टेस्ट बुक करवाएं।टेस्ट बुक करने के लिए आप नीचे दिए गएँ नंबर पर कॉल करें और आज भी अपना टेस्ट बुक करवाए।

डब्ल्यूएचओ (WHO) के अनुसार, हृदय रोग से होने वाली पांच में से चार से अधिक मौतें दिल के दौरे (heart attack) और स्ट्रोक (stroke) के कारण होती हैं, और इनमें से एक तिहाई (one third) अकाल मृत्यु (premature deaths) 70 वर्ष से कम उम्र के लोगों में होती है।

आपके दिल की स्थिति का आकलन (assess) करने और संबंधित जटिलताओं (associated complications) की जांच के लिए कुछ परीक्षणों (tests) का उपयोग किया जा सकता है। हालांकि, क्योंकि दिल का दौरा एक चिकित्सा आपात स्थिति (medical emergency) है, इनमें से कुछ परीक्षण आमतौर पर आपके प्रारंभिक उपचार शुरू होने के बाद किए जाते हैं और आपकी स्थिति स्थिर हो जाती है।

#1. इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम (Electrocardiogram)

एक इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम (ईसीजी) (electrocardiogram (ECG)) संदिग्ध दिल के दौरे में एक महत्वपूर्ण परीक्षण है। यह अस्पताल में भर्ती होने के 10 मिनट के भीतर किया जाना चाहिए।

ईसीजी टेस्ट आपके दिल की विद्युत गतिविधि (electrical activity) को मापता है। हर बार जब आपका दिल धड़कता है, तो यह छोटे विद्युत आवेग (electrical impulses) पैदा करता है। एक ईसीजी मशीन इन संकेतों को कागज पर रिकॉर्ड करती है, जो आपके डॉक्टर को यह देखने में मदद करती है कि आपका दिल कितनी अच्छी तरह काम कर रहा है।

एक ईसीजी दर्द रहित (painless) होता है और इसे करने में लगभग 5 मिनट लगते हैं। परीक्षण के दौरान (During the test), फ्लैट मेटल डिस्क (flat metal discs) (इलेक्ट्रोड) (electrodes)) आपके हाथ, पैर और छाती से जुड़े होते हैं। इलेक्ट्रोड से तार ईसीजी मशीन से जुड़े होते हैं, जो विद्युत आवेगों (electrical current) को रिकॉर्ड करता है।

एक ईसीजी महत्वपूर्ण है क्योंकि (An ECG is important because):-

  • यह दिल के दौरे (heart attack) के निदान की पुष्टि करने में मदद करता है
  • एक ईसीजी टेस्ट (ECG test) यह निर्धारित करने में मदद करता है कि आपको किस प्रकार का दिल का दौरा (heart attack) पड़ा है, जो सबसे प्रभावी उपचार निर्धारित करने में मदद करेगा।

#2. रक्त परीक्षण (blood test)

दिल के दौरे (heart attack) से आपके दिल को होने वाली क्षति के कारण कुछ प्रोटीन आपके रक्त में धीरे-धीरे रिसने (leak) लगते हैं। यह एंजाइम (Enzymes) विशेष प्रोटीन होते हैं जो आपके शरीर में होने वाली रासायनिक प्रतिक्रियाओं (chemical reactions) को नियंत्रित (control) करने में मदद करते हैं।

यदि डॉक्टरों को संदेह (suspected) है कि आपको एक संदिग्ध दिल का दौरा पड़ा है, तो आपके रक्त का एक नमूना (sample) लिया जाएगा ताकि इन हृदय प्रोटीन (heart proteins) (कार्डियक मार्कर (cardiac markers) के रूप में जाना जाता है) के लिए इसका परीक्षण किया जा सके।

सबसे आम प्रोटीन माप को कार्डियक ट्रोपोनिन (cardiac troponin) कहा जाता है। आपके ट्रोपोनिन स्तर (troponin level) को कुछ दिनों के दौरान किए गए रक्त परीक्षणों (blood tests) की एक श्रृंखला (series) के माध्यम से मापा जाएगा। यह आपके दिल की क्षति (heart damage) का आकलन (assessed) करने की अनुमति देगा, और यह निर्धारित करने में भी मदद करेगा कि आप उपचार के प्रति कितनी अच्छी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

#3. छाती का एक्स – रे (chest X-ray)

यदि दिल के दौरे (heart attack) का निदान अनिश्चित है और आपके लक्षणों के अन्य संभावित कारण (possible causes) हैं, जैसे कि आपके फेफड़ों की परतों (layers of your lungs ) (न्यूमोथोरैक्स)( (pneumothorax)) के बीच फंसी हुई हवा की जेब, तो छाती का एक्स-रे (chest x-ray) उपयोगी हो सकता है। छाती के एक्स-रे का उपयोग यह जांचने के लिए भी किया जा सकता है कि क्या दिल के दौरे से जटिलताएं हुई हैं, जैसे कि आपके फेफड़ों के अंदर तरल पदार्थ (fluid) का निर्माण (फुफ्फुसीय एडिमा) (pulmonary edema)।

#4. इकोकार्डियोग्राम (echocardiogram)

इकोकार्डियोग्राम एक प्रकार का स्कैन है जो आपके दिल के अंदर की तस्वीर बनाने के लिए ध्वनि तरंगों (sound waves) का उपयोग करता है। यह पहचानने में उपयोगी हो सकता है कि हृदय के कौन से क्षेत्र क्षतिग्रस्त (damaged) हो गए हैं और इस क्षति ने आपके हृदय के कार्य को कैसे प्रभावित (affected) किया है।

#5. कोरोनरी एंजियोग्राफी (coronary angiography)

कोरोनरी एंजियोग्राफी यह निर्धारित करने में मदद कर सकती है कि क्या कोरोनरी धमनियों (coronary arteries) में रुकावट या संकुचन (blockage or narrowing) है, और यदि ऐसा है, तो रुकावट (blockage) या संकुचन (narrowing) की सही जगह का पता लगाने के लिए।

परीक्षण में आपके कमर या बांह (groin or arm) में रक्त वाहिकाओं (blood vessels) में से एक में एक पतली ट्यूब (thin tube) (कैथेटर) ((catheter)डालना शामिल है। कैथेटर (catheter) को एक्स-रे का उपयोग करके आपकी कोरोनरी धमनियों (coronary arteries) में निर्देशित (guided) किया जाता है।

इस टेस्ट के दौरान एक विशेष द्रव (special fluid), जिसे कंट्रास्ट एजेंट (contrast agent) कहा जाता है, कैथेटर के माध्यम से पंप किया जाता है। यह द्रव एक्स-रे पर देखा जा सकता है और यह अध्ययन कर सकता है कि यह आपके दिल के चारों ओर कैसे बहता है, किसी भी रुकावट या संकुचन की साइट का पता लगाने में मदद कर सकता है। यह एक डॉक्टर की मदद करता है जिसे हृदय रोग (हृदय रोग विशेषज्ञ (cardiologist)) में विशेषज्ञता (expertise) है, जो आपके लिए सबसे अच्छा इलाज तय करता है।

निष्कर्ष (Conclusion)

हमें याद रखना चाहिए कि अकेले एक परीक्षण (test) हृदय रोग (heart disease) के आपके समग्र जोखिम (overall risk) को निर्धारित (determine) नहीं कर सकता है। अगर आपको लगता है कि आपकी जीवनशैली या पारिवारिक इतिहास (lifestyle or family history) आपको कम उम्र में हृदय रोग के विकास के जोखिम में डाल सकता है, तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए, सलाह के अनुसार आपको अपना टेस्ट लगातार अंतराल पर कराते रहना चाहिए और अपनी जीवनशैली की आदतों में भी सुधार करते रहना चाहिए जिससे की आप एक स्वस्थ जीवन बिता सकते हैं।

सामान्य पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

#1. हार्ट के लिए कौन कौन से टेस्ट होते हैं? (What are the tests for heart?)

हार्ट अटैक का पता लगाने के लिए हमें लगातार नियमित अंतराल पर अपने हार्ट सम्बन्ध्ति टेस्ट करवाते रहना चाहिए। नीचे हम ने कुछ टेस्टों के नाम सूचीबद्ध किया है जो की हैं-

  • इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम
  • छाती का एक्स – रे
  • इकोकार्डियोग्राम
  • कोरोनरी एंजियोग्राफी
#2. ईसीजी जांच से क्या पता चलता है? (What does an ECG test reveal?)

यह टेस्ट मुख्य रूप से रक्त संचालित करने वाली रक्त वाहिका में परेशानी, ऑक्सीजन की कमी, नसों का ब्लॉकेज, सीने में दर्द या सूजन, सांस लेमे में परेशानी आदि की जांच करने के लिए किया जाता हैं। इस टेस्ट को हार्ट अटैक या दिल से जुड़ी अन्य समस्यों का पता लगाने के लिए भी किया जाता हैं।

#3. हार्ट ब्लॉकेज के सामान्य लक्षण क्या हो सकते हैं? (What are the common symptoms of heart blockage?)

वैसे इसके बहुत सारे लक्षण हो सकते है लेकिन नीचे हमनें कुछ मत्वपूर्ण लक्षणों के बारे में विस्तार से चर्चा की हैं जो की हैं:-

  • चक्कर आना
  • सांस लेने में तकलीफ होना
  • सांस फूलना
  • सीने में दर्द का महसूस होना
  • दिल की धरकन का तेज़ होना

Leave a comment

6 Comments

  • Bablu Mishra

    Jun 18, 2024 at 8:00 PM.

    Sir mujhe pure sine me jakran dabav kamjori bahot gabrahat bhi hoti hai rat ko nind nhi aati gass bhi bahot banti hai Kya kare

    • MyHealth Team

      Jun 19, 2024 at 9:53 AM.

      आपके लक्षण चिंता का कारण हो सकते हैं, और आपको जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

      तत्काल सुझाव:

      1. पोषण: हल्का, सुपाच्य भोजन लें और तले-भुने, मसालेदार खाने से बचें।
      2. पानी: खूब पानी पिएं ताकि शरीर हाइड्रेटेड रहे।
      3. व्यायाम: हल्के व्यायाम या योग करें जिससे गैस की समस्या में राहत मिल सकती है।
      4. आराम: सोने से पहले शांत वातावरण बनाए रखें और गहरी सांस लेने की तकनीकें अपनाएं।
      5. चिकित्सा: अपने चिकित्सक से मिलें और अपने लक्षणों के बारे में विस्तार से बताएं।

      जल्द से जल्द डॉक्टर की सलाह लें ताकि सही कारण का पता चल सके और उचित उपचार मिल सके।

  • SHILPA RAVINDRA GHADKAR

    Apr 20, 2024 at 2:47 PM.

    Muze ECG karvana hai near by wakad koi acha sa hospital ya clinic hai

    • Myhealth Team

      Apr 23, 2024 at 6:59 AM.

      Hi please call on the number 8988988787.

  • ABHIJEET KADAM

    Sep 27, 2023 at 6:03 AM.

    hello Sir, I am Abhijeet. I am 31 year old. mujhe nind me pulpitation hota usi vakt left chesta upper corner swelling type hota he. i did all tests. all tests are normal except chelosterol woh bhi border line tha. i am daily walking 1 hour there is no tired ness. but only nind me pulpitation our left hand pain only for 10 min ho raha he fir noormal ho jata he. there is any reason gas or muscle or heart related.?? can you help me how to eliminate pulpitation?

    • Myhealth Team

      Oct 7, 2023 at 10:04 AM.

      Palpitations, swelling in the upper left corner of the chest, and pain in the left hand can be caused by a variety of medical conditions, including heart disease, gas, muscle strain, anxiety, panic attacks, thyroid problems, and medication side effects. It is important to see a doctor to rule out any underlying medical conditions. To eliminate palpitations: Avoid caffeine and alcohol Get regular exercise Manage stress Get enough sleep Eat a healthy diet If your palpitations are caused by an underlying medical condition, your doctor will work with you to develop a treatment plan.

  • Pratap Kumar

    Jul 7, 2023 at 9:49 AM.

    Mere Age 21 hai ecg OR x Ray or cbc karb Hai sab normal aaya hai tab v cheat mei pain hota hai asa q Ho tha hai ya 2montha se ho rha hai

    • Myhealth Team

      Jul 10, 2023 at 8:55 AM.

      Hi Pratap, आपके बताए गए साधारण परीक्षण रिपोर्ट में कोई असामान्यता नहीं है, जो अच्छी बात है। हालांकि, छाती में दर्द का कारण निर्धारित करने के लिए एक पेशेवर चिकित्सक के साथ संपर्क करना सर्वोत्तम होगा। दर्द कई अभिप्रेत कारकों से हो सकता है, जैसे मांसपेशियों या हड्डियों की समस्या, दिल के बारे में जांच करें, तनाव या अवसाद की स्थिति, पाचन तंत्र संबंधी समस्या या अन्य कारणों से। एक चिकित्सक आपकी गतिविधियों, आहार और दैनिक जीवनशैली का भी मूल्यांकन करके आपकी स्थिति की गहन विश्लेषण करेगा। धन्यवाद

  • Pratap jha

    Jun 14, 2023 at 9:03 AM.

    Mere Age 21 hai chest mei dird hota hai or biche pitha mei doctor ke pass gya ecg normal aaya or blood test v thik tha per Abhi v cheat mei dird hota hai or pithe mei v to batya ap ki kya karn ho sakta hai

    • Arman ali

      Jan 11, 2024 at 2:27 PM.

      Mere seene me peet me baye hath me dard hota kyu h jb ki maine ecg krwaya to doctor ne btaya ki aapko koe hard se koe deekat nhi h

    • Myhealth Team

      Jun 15, 2023 at 5:20 AM.

      Hi Pratap Jha, अगर आपको 21 साल की उम्र में छाती में दर्द हो रहा है और पीठ के बीच में भी दर्द हो रहा है, तो कई कारण हो सकते हैं। आपने डॉक्टर के पास जाकर ECG टेस्ट करवाया है और यह नॉर्मल आया है, और रक्त परीक्षण भी ठीक है। इस स्थिति में, दर्द के कारण औरका निर्धारण करने के लिए आपको एक चिकित्सा विशेषज्ञ की सलाह लेना चाहिए। वे आपके लक्षणों की विस्तारपूर्वक जांच करेंगे और आपका मेडिकल हिस्ट्री और परीक्षण के आधार पर विभिन्न रोगों की संभावित संभावनाओं को मूल्यांकित करेंगे। कुछ सामान्य कारणों में से कुछ निम्नलिखित हो सकते हैं: 1. मांसपेशियों की तनाव: दबाव, खींचाव, या अनुयायी व्यायाम के कारण हो सकता है। 2. अस्थमा: फुप्फों में सूजन के कारण हो सकता है। 3. अपांगता: पीठ की अपांगता, कंधों का दबाव, या गलत बैठने के कारण दर्द हो सकता है। 4. स्थानिक कारण: अगर आप अधिक समय बैठे रहते हैं या बार-बार उठने-बैठने की आवश्यकता होती है, तो दर्द हो सकता है। 5. स्ट्रेस या चिंता: मानसिक तनाव के कारण भी दर्द हो सकता है। आपको इन मुद्दों के बारे में जानकारी प्रदान करने के लिए एक चिकित्सा विशेषज्ञ से परामर्श लेना चाहिए। वे आपके लक्षणों का सही कारण निर्धारित करेंगे और उपयुक्त उपचार की सलाह देंगे।

  • dharmaram

    Nov 20, 2022 at 7:48 PM.

    मुझे बार बार छास लेने मे कयो तकलीफ हो रही है बार मेरे शरीर के हर हिस्से मे बार बार दरद होता है फिर चला जाता है कारण

    • Myhealth Team

      Nov 21, 2022 at 12:09 PM.

      Aapke sawaal ke liye sukriya. Aap apne nazdiki doctor se check up krwa lijiye. Saare test krwane k baad hi aapko apni problem ka illaj mil payega

Consult Now

Share MyHealth Blog