If you have turned 30+-then definitely get this test done

एक अति व्यस्त जीवनशैली (busy lifestyle) के चलते में हम कई बार अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना भूल जाते है। वैसे तो हर उम्र के लोगों को अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखने की जरुरत होती है पर अगर आपकी उम्र 30 से ज्यादा है तो आपको अपने स्वास्थ्य का अधिक ख्याल रखने की जरुरत है और यह तभी संभव है जब आप अपना वार्षिक स्वास्थ्य चेकअप करवाते हैं।

यहां इस लेख में हम बात करने जा रहे है कुछ ऐसे स्वास्थ्य परीक्षण (health test) की जो आपको 30 के उम्र के बाद नियमित रूप करवाना चाहिए ताकि आप एक स्वस्थ जीवनशैली (healthy lifestyle) जी सके।

30 वर्ष की बाद अनुशंसित चिकित्सा परीक्षण क्या हैं? (What are the recommended medical tests after age 30?)

30 साल की उम्र तक कई ऐसे अनुशंसित (recommended) चिकित्सा परीक्षण (health test) हैं जो की आपके लिए बहुत आवश्यक होते है। इन स्वास्थ्य जांच परीक्षणों में आपके रक्तचाप (blood pressure) से लेकर दंत परीक्षण (dental test) तक सब कुछ शामिल है।

#1. रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल की जांच (Checking Blood Pressure and Cholesterol)

आपके दिल की सेहत हर उम्र में मायने रखती है। जब आप 30 वर्ष के होते है तो यह सुनिश्चित करने के लिए गंभीर होने का सही समय है कि आपका कार्डियोवस्कुलर सिस्टम (cardiovascular system) अच्छे आकार में है। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन (American Heart Association) के अनुसार 20 वर्ष से अधिक उम्र के सभी वयस्कों को हर दो साल में अपने रक्तचाप (blood pressure) की जांच करवानी चाहिए और हर चार से छह साल में उनके कोलेस्ट्रॉल के स्तर (cholesterol level) की जांच होनी चाहिए।

मोटापा (obesity) या मधुमेह (diabetes) जैसे जोखिम कारक किसी को उच्च कोलेस्ट्रॉल (high cholesterol) के लिए उच्च जोखिम (high risk) में डाल सकते हैं, यहां तक ​​​​कि उन स्थितियों के बिना भी लोगों में उच्च कोलेस्ट्रॉल (high cholesterol) हो सकता है। इसी वजह से  हर किसी को अपने रक्तचाप (blood pressure) और कोलेस्ट्रॉल की जांच (cholesterol test) जरूर करानी चाहिए, भले ही आपका हृदय का स्वास्थ्य कितना भी अच्छा हो।

#2. त्वचा की जांच (Skin Examination)

30 साल की उम्र में, आप मुँहासे या यहां तक ​​​​कि एंटी-एजिंग उत्पादों (anti-aging products) जैसे मुद्दों के बारे में बात करने के लिए त्वचा विशेषज्ञ (dermatologist) के पास जाने की सोच रहे होंगे, लेकिन उस सूची में त्वचा के कैंसर (skin cancer) की जांच को भी जोड़ना महत्वपूर्ण है।

रेडक्लिफ लैब (Redcliff Lab) के विशेषज्ञ बताते हैं कि सभी को 18 साल की उम्र से वार्षिक त्वचा कैंसर की जांच (annual skin cancer testing) करवानी चाहिए। अधिकांश लोग त्वचा के कैंसर (skin cancer) की जांच (test) के लिए बड़े होने तक की प्रतीक्षा करते हैं, लेकिन त्वचा का कैंसर (skin cancer) किसी भी उम्र के व्यक्तियों को प्रभावित कर सकता है।

रोगियों को यह याद रखना चाहिए कि स्किन कैंसर फाउंडेशन (Skin Cancer Foundation) के अनुसार, मेलेनोमा (melanoma) 15 से 19 वर्षों में निदान (diagnosed) किया जाने वाला दूसरा सबसे आम कैंसर (cancer) है और 25-29 आयु वर्ग के रोगियों में सबसे आम कैंसर है। “त्वचा कैंसर (skin cancer) के साथ याद रखने वाली सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि शीघ्र निदान (quick diagnosis) इसके बेहतर परिणाम और छोटे निशानों (smaller scars) की ओर ले जाता है।”

#3. एचआईवी और एसटीआई स्क्रीनिंग (HIV and STI Screening)

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (The Centers for Disease Control and Prevention) अनुशंसा (recommends) करता है कि 13 से 64 वर्ष के बीच के सभी यौन सक्रिय (sexually active) व्यक्तियों को जोखिम कारकों की परवाह किए बिना वर्ष में कम से कम एक बार एचआईवी परीक्षण (HIV test) जरूर करवाना चाहिए। उच्च जोखिम वाली यौन गतिविधि (sexual activity) वाले व्यक्तियों के लिए, एचआईवी (HIV) के लिए हर तीन से छह महीने में परीक्षण (testing) करवाया जाना अनिवार्य हैं।

यदि आप नए या कई यौन साझेदारों (sex partners) के साथ यौन रूप से सक्रिय (sexually active) हैं, तो हर साल क्लैमाइडिया (chlamydia) और गोनोरिया (gonorrhea) जैसे यौन संचारित संक्रमणों (sexually transmitted infections) के लिए भी परीक्षण करवाना आपके लिए महत्वपूर्ण है – विशेष रूप से 25 वर्ष से कम उम्र की महिलाओं के लिए। एसटीआई (STI) के लिए स्क्रीनिंग से आपको उनका पहले पता लगाने में मदद मिल सकती है, जो बाद में कई स्वास्थ्य समस्याओं को विकसित होने से रोकता है।

रेडक्लिफ लैब (Redcliff Lab) के विशेषज्ञ बताते हैं कि “अनुपचारित क्लैमाइडिया और गोनोरिया (Untreated chlamydia and gonorrhoea) आपके श्रोणि (pelvis) में फैल सकता है और गर्भाशय (uterus), फैलोपियन ट्यूब (fallopian tubes) और अंडाशय (ovaries) को संक्रमित कर सकता है, जिससे बांझपन (infertility) हो सकता है।

4. कोलोरेक्टल कैंसर की जांच (यदि जोखिम बढ़ जाता है) (Screening for colorectal cancer (if the risk is increased)

कोलोरेक्टल स्क्रीनिंग (colorectal screening) एक असहज (uncomfortable) अनुभव हो सकता है जिससे बहुत से लोग कतरा सकते हैं। हालांकि, कोलोनोस्कोपी (colonoscopy) पुरुषों और महिलाओं के लिए यह एक अविश्वसनीय रूप से महत्वपूर्ण परीक्षण हो सकता है क्योंकि स्वास्थ्य सेवा प्रदाता (healthcare providers) कोलन कैंसर (colon cancer) का जल्द पता लगाने के लिए कोलोरेक्टल स्क्रीनिंग (colorectal screening) का उपयोग करते हैं। अमेरिकन कैंसर सोसाइटी (American Cancer Society) यह पता लगाने की सिफारिश करती है कि क्या आप कोलन कैंसर (colon cancer) के लिए औसत जोखिम से अधिक हैं।

जोखिम कारकों के उदाहरणों में कोलन कैंसर (colon cancer) का पारिवारिक इतिहास, पुरानी स्थितियां जैसे कि चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम (IBS), या धूम्रपान शामिल हैं। यदि आप अधिक जोखिम में नहीं हैं, तो आप अभी के लिए इस परीक्षण को छोड़ सकते हैं। यदि आप अधिक जोखिम में हैं, तो आपको अपने डॉक्टर से इस बारे में बात करनी होगी कि परीक्षण कब शुरू करना है और कितनी बार करना है।

5. Pelvic exam (for women) (श्रोणि परीक्षा (महिलाओं के लिए)

स्त्री रोग विशेषज्ञ (gynecologist) के पास जाना महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, खासकर उनकी किशोरावस्था में। “एक स्वस्थ जीवन को बनाए रखने के लिए, 21 वर्ष और उससे अधिक उम्र की महिलाओं के लिए पैल्विक परीक्षा (pelvic exam) और सर्वाइकल कैंसर (cervical cancer) के लिए हर तीन साल में पैप स्मीयर (Pap smear) करना महत्वपूर्ण है। हाल ही में, अमेरिकन कैंसर सोसाइटी (American Cancer Society) ने रोगियों के 25 वर्ष के होने तक सर्वाइकल कैंसर (cervical cancer) की जांच में देरी करने की सिफारिश करने के लिए अपने मार्गदर्शन (guidance) को अपडेट किया।

6. नेत्र परीक्षा (Eye Exam)

चश्मा और कॉन्टैक्ट लेंस पहनने वाले हर वर्ष होने वाली नेत्र परीक्षा की दिनचर्या (routine) के बारे में जानते हैं। लेकिन भले ही आपकी आंखें 20/20 हैं और आपको आंखों की बीमारी के लिए कोई जोखिम कारक (risk factors) नहीं है, अमेरिकन ऑप्टोमेट्रिक एसोसिएशन (American Optometric Association) 18 से 39 साल की उम्र के बीच हर दो साल में एक व्यापक आंख और दृष्टि परीक्षा (comprehensive eye and vision exam) की सिफारिश करता है। यदि आपने 30 वर्ष की उम्र पूरा होने से पहले ऐसा नहीं किया है, तो  एक नेत्र रोग विशेषज्ञ (eye disease expert) या ऑप्टोमेट्रिस्ट (optometrist) के साथ अपॉइंटमेंट लेने का यह एक अच्छा समय है।

रेडक्लिफ लैब के नेत्र रोग विशेषज्ञ (ophthalmologist), कहते हैं, “आंखों की जांच परीक्षा में शुरुआती स्थितियों का पता लगाया जा सकता है जो भविष्य में समस्याओं को रोकने में मदद कर सकती हैं।” “उदाहरण के लिए, आप बढ़े हुए ऑप्टिक नसों (optic nerves) और ग्लूकोमा (glaucoma) संदिग्ध हो सकते हैं, रेटिना पिग्मेंटेशन (retinal pigmentation) हो सकते हैं, या सूखी आंखें (dry eyes) हो सकती हैं। ये सभी उपचार योग्य और रोकथाम योग्य हैं।” नियमित परीक्षण (Eye exams), अन्य गैर-आंख संबंधी स्वास्थ्य समस्याओं जैसे मधुमेह (diabetes), उच्च कोलेस्ट्रॉल (high cholesterol), उच्च रक्तचाप (hypertension), या कैंसर को उजागर कर सकते हैं।

7. दांतों की सफाई (Teeth Cleaning)

एक स्वस्थ मुस्कान एक खुश मुस्कान है, और इसे बनाए रखने का सबसे अच्छा तरीका लगातार दंत चिकित्सा यात्राओं (frequent dental visits)। अमेरिकन डेंटल एसोसिएशन (American Dental Association) ने सिफारिश (recommend) की है कि वयस्कों (adult) को उनके दंत चिकित्सक द्वारा निर्धारित अंतराल पर दांतो का परीक्षण करवाना चाहिए। औसत व्यक्ति के लिए, इसका अर्थ आमतौर पर वर्ष में कम से कम एक बार होता है।

30 साल की उम्र में दांतों की जांच इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि दंत चिकित्सक (dentist) और हाइजीनिस्ट (hygienist) आपके मुंह में गुहाओं (cavities) या मसूड़ों (guns) की बीमारियों की जांच कर सकते हैं जो बाद में जीवन में गंभीर मौखिक स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकते हैं। एक दंत सफाई मधुमेह (dental cleaning diabetes) जैसी गैर-मौखिक (non-verbal) स्वास्थ्य स्थितियों के लिए भी स्क्रीन की मदद कर सकती है। आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए इष्टतम (optimum) स्वास्थ्य बनाए रखना महत्वपूर्ण है।

रोकथाम महत्वपूर्ण है (Prevention is important)

आपके 20 के दशक के दौरान, आपको अपना संपूर्ण स्वास्थ्य पसंद आ सकता है, लेकिन हमेशा ऐसा नहीं होता है। अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system) को चरम स्थिति में रखने और आजीवन स्वास्थ्य की एक मजबूत नींव स्थापित करने के लिए प्राथमिक देखभाल यात्राओं (primary care visits) और शारीरिक जांच (physical checks) के शीर्ष पर रहना महत्वपूर्ण है – और संभावित रूप से किसी भी स्थिति की शुरुआती शुरुआत को पकड़ें जो आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती हैं। इसका मतलब निवारक जांच (preventive screening) और टीकाकरण (vaccination) से है।

अक्सर बचपन में हमें प्राप्त होने वाले टीके हमें जीवन भर चलने के लिए पर्याप्त नहीं होते हैं, इसीलिए वयस्कों के लिए टीके और टीकाकरण की सिफारिश की जाती है। 19 साल की उम्र से, सीडीसी (CDC) निम्नलिखित टीकाकरण की सिफारिश करता है:

  • फ्लू वैक्सीन (flu vaccine)
  • टीडीएपी (टेटनस, डिप्थीरिया, पर्टुसिस)
  • एमएमआर (खसरा, कण्ठमाला रूबेला)
  • और वैरिसेला (वीएआर)

नोट- जिन वयस्कों में टीकों की कमी है, उन्हें  हेपेटाइटिस ए, हेपेटाइटिस बी और ह्यूमन पैपिलोमावायरस (एचपीवी) सहित अन्य बीमारियां पकड़ सकती हैं।

आपको डॉक्टर के दौरे (doctor’s visit) की योजना बनाना कभी-कभी व्यस्त या कठिन लग सकता है। इसीलिए अपने जन्मदिन के आसपास डॉक्टर को विज़िट करने का प्रयास करें और शेड्यूल करें। यदि आप हर गुजरते साल के साथ अपॉइंटमेंट लेते हैं, तो अपॉइंटमेंट और स्क्रीनिंग के अनुशंसित शेड्यूल (recommended schedule) पर नज़र रखना और उसके साथ बने रहना आसान हो जाएगा।

यदि पैसा आपको शारीरिक परीक्षा करवाने से रोकता है, तो आप हमेशा उन क्लीनिकों की तलाश कर सकते हैं जिनमें छूट (discounted) या शुल्क पैमाने (fee scale services) की सेवाएं हैं। इसके अतिरिक्त, आप संघीय रूप (federally qualified) से योग्य स्वास्थ्य केंद्र में देखभाल के लिए अर्हता (qualify)  प्राप्त कर सकते हैं। और अगर आपको अपनी जांच पूरी करने के बाद दवा या उपचार की आवश्यकता है, तो नुस्खे पर छूट प्राप्त करने में सहायता का उपयोग करना न भूलें।

Ms. Srujana is Managing Editor of Cogito137, one of India’s leading student-run science communication magazines. I have been working in scientific and medical writing and editing since 2018. I am also associated with the quality assurance team of scientific journal editing. I am majoring in Chemistry with a minor in Biology at IISER Kolkata.

Leave a Reply

Your email address will not be published.