Low-Blood-Pressure

हाइपोटेंशन (Hypotension) या निम्न रक्तचाप (low blood pressure) भारत में एक बढ़ती चिंता है। निस्संदेह, उच्च रक्तचाप (high blood pressure) रक्तचाप (blood pressure) से संबंधित एक अधिक गंभीर स्थिति है, लेकिन अत्यधिक निम्न रक्तचाप (low blood pressure) भी जीवन के लिए खतरा हो सकता है।

जब से COVID-19 महामारी ने दुनिया को प्रभावित किया है, निम्न रक्तचाप (low blood pressure) के मामलों, विशेष रूप से ऑर्थोस्टेटिक हाइपोटेंशन (orthostatic hypotension) ने स्वास्थ्य पेशेवरों के बीच चिंता बढ़ा दी है। इसलिए लोगों को हाइपोटेंशन (hypotension) के बारे में जानकारी देना जरूरी है।

इस लेख (article) में, आइए निम्न रक्तचाप (low blood pressure) (हाइपोटेंशन), इसके प्रकार, लक्षण, लक्षणों को कम करने के उपायों, कारणों और उपचार के बारे में विस्तार से जानते हैं ताकि आप जान सकें कि ऐसी स्थितियों से प्रभावी ढंग से कैसे निपटा जाए।

हाइपोटेंशन क्या है? (What is hypotension?)

रक्तचाप (blood pressure) से तात्पर्य धमनियों (arteries) के खिलाफ रक्त को धकेलने वाले बल (force) से है। जब यह बल (force) इष्टतम सीमा (optimum range) से कम होता है, तो इसे निम्न रक्तचाप (low blood pressure) या हाइपोटेंशन (hypotension) के रूप में जाना जाता है।

रक्तचाप (blood pressure) के स्तर में आपकी नियमित गतिविधियों के अनुसार उतारचढ़ाव होता है। रक्तचाप (blood pressure) को दो अंतरालों पर मापा जाता है: पहला, जब आपका दिल धड़कता है, और दूसरा, लगातार दो दिल की धड़कनों के बीच।

  • सिस्टोल (systole) या सिस्टोलिक दबाव (systolic pressure) वह है जो आपके पूरे शरीर को रक्त (blood) की आपूर्ति करता है। यह उस दबाव को मापता है जिस पर आपके हृदय के निलय (heart ventricles) सिकुड़ने पर आपकी धमनियों (arteries) से रक्त पंप (blood pump) होता है
  • डायस्टोल (Diastole) या डायस्टोलिक दबाव (diastolic pressure) कोरोनरी धमनियों (coronary arteries) के माध्यम से आपके हृदय को रक्त की आपूर्ति करता है। यह रक्तचाप (blood pressure) को तब मापता है जब आपका दिल आराम पर होता है, यानी लगातार दो दिल की धड़कनों के बीच
  • रक्तचाप (blood pressure) का रीडिंग दो संख्याओं को दर्शाता है। पहली संख्या सिस्टोलिक दबाव (systolic pressure) को दर्शाती है, जबकि दूसरी संख्या डायस्टोलिक दबाव (diastolic pressure) को दर्शाती है। सामान्य रक्तचाप (blood pressure) रीडिंग 120/80 mmHg है। यानी सिस्टोलिक दबाव (systolic pressure) 120 mmHg है, जबकि डायस्टोलिक दबाव (diastolic pressure) 80 mmHg है

राष्ट्रीय हृदय, फेफड़े और रक्त संस्थान के अनुसार, हाइपोटेंशन (hypotension) तब होता है जब रक्तचाप (blood pressure) 90/60 होता है। सिस्टोलिक दबाव (systolic pressure) 90 मिमी Hg है, और डायस्टोलिक दबाव (diastolic pressure) 60 मिमी Hg है। 

हाइपोटेंशन के प्रकार क्या हैं? (What are the types of hypotension?)

हाइपोटेंशन (hypotension) होने की स्थिति और हाइपोटेंशन (hypotension) के पीछे मुख्य कारण के आधार पर, निम्न रक्तचाप (low blood pressure) विभिन्न प्रकार का हो सकता है।

1. ऑर्थोस्टैटिक हाइपोटेंशन (Orthostatic hypotension)

कुछ लोगों में, शरीर की स्थिति में बदलाव, यानी बैठने या लेटने की स्थिति से खड़े होने से रक्तचाप (blood pressure) में गिरावट सकती है। इसे ऑर्थोस्टेटिक (orthostatic) या पोस्टुरल हाइपोटेंशन (postural hypotension) के रूप में जाना जाता है। इस प्रकार, स्थिति में बदलाव से आपको सिर घूम सकते हैं या चक्कर सकते हैं।

ऑर्थोस्टेटिक हाइपोटेंशन (orthostatic hypotension) लोगों में होने वाले निम्न रक्तचाप (low blood pressure) का सबसे सामान्य प्रकार है। ऑर्थोस्टेटिक हाइपोटेंशन (orthostatic hypotension) विभिन्न कारणों से हो सकता है:-

  • बड़े या वृद्ध लोग ऑर्थोस्टेटिक हाइपोटेंशन (orthostatic hypotension) के प्रति अधिक संवेदनशील होते हैं
  • गर्भवती महिलाओं को भी ऑर्थोस्टेटिक हाइपोटेंशन (orthostatic hypotension) होने का खतरा अधिक होता है
  • जिन लोगों को स्वायत्त तंत्रिका तंत्र (autonomic nervous system) में विकार (disorder) हैं, जैसे कि पार्किंसंस रोग (Parkinson’s disease), उनमें ऑर्थोस्टेटिक हाइपोटेंशन ( orthostatic hypotension) भी हो सकता है। पार्किंसंस (Parkinson’s) के लगभग 30-50% रोगियों में निम्न रक्तचाप (low blood pressure) होता है
  • मधुमेह (Diabetes) रोगियों को ऑर्थोस्टेटिक हाइपोटेंशन (orthostatic hypotension) भी हो सकता है। मधुमेह (diabetes) वाले लगभग 30% लोग ऑर्थोस्टेटिक हाइपोटेंशन (orthostatic hypotension) से पीड़ित हैं

2. पोस्टप्रैन्डियल हाइपोटेंशन (Postprandial hypotension)

पोस्टप्रैन्डियल हाइपोटेंशन (Postprandial hypotension), जैसा कि नाम से पता चलता है, भोजन करने के कुछ समय बाद होता है। यह एक बहुत ही सामान्य प्रकार का निम्न रक्तचाप (low blood pressure) है जो मुख्य रूप से वृद्ध लोगों या स्वायत्त शिथिलता (autonomic dysfunction) वाले लोगों में होता है, जैसा कि 2010 के एक समीक्षा लेख (article) के अनुसार है।

3. तंत्रिका मध्यस्थता हाइपोटेंशन (Neurally mediated hypotension)

रक्तचाप (blood pressure) शरीर का एक महत्वपूर्ण पैरामीटर है जो आपके तंत्रिका तंत्र (nervous system) और आपके शरीर के हार्मोन (hormones) और अंगों के बीच संतुलन बनाए रखता है। जब आपके हृदय (heart) और मस्तिष्क (brain) के बीच एक असामान्य प्रतिवर्त क्रिया (abnormal reflex action) होती है, तो इसे तंत्रिकामध्यस्थ हाइपोटेंशन (nerve-mediated hypotension) के रूप में जाना जाता है। तंत्रिकामध्यस्थ हाइपोटेंशन (nerve-mediated hypotension) विभिन्न कारणों से हो सकता है जैसे:

  • लंबे समय तक एक ही अवस्था (position) में खड़े रहना। वयस्कों की तुलना में बच्चों में तंत्रिकामध्यस्थ हाइपोटेंशन (nerve-mediated hypotension) घटना के लिए यह कारण अधिक आम है
  • उत्तेजना (stimulus) के जवाब में एक छोटी भावनात्मक (emotions) प्रतिक्रिया देना, जैसे कि एक चिकित्सा या दंत प्रक्रिया (dental procedure) के दौरान, आपको निम्न रक्तचाप (low blood pressure) होने का अधिक खतरा होता है

4. गंभीर हाइपोटेंशन (Severe hypotension)

चोट (injury) या संक्रमण (infection) के कारण लगने वाले झटके आपके रक्तचाप (blood pressure) में भारी कमी ला सकते हैं। चूंकि, सदमे (shock) की स्थिति में, अंगों को शरीर द्वारा आवश्यक पर्याप्त ऑक्सीजन (oxygen) और रक्त (blood) नहीं मिलता है, जिससे अंग अपर्याप्त रूप से कार्य करते हैं। गंभीर हाइपोटेंशन (Severe hypotension) से तुरंत निपटा जाना चाहिए, और उपचार सही तरीके से दिया जाना चाहिए। अन्यथा, यह एक जीवन के लिए खतरनाक विकार (disorder) में परिवर्तित हो सकता है।

5. अन्य प्रकार (Other types)

अन्य प्रकार के निम्न रक्तचाप (low blood pressure) में वे शामिल हैं जो किसी दवा के दुष्प्रभाव (side effect) के कारण होते हैं, विटामिन (vitamin) की कमी, या ऐसी स्थितियां जो आपकी नसों (nerves), हृदय (heart), यकृत (liver) या हार्मोन (hormone) प्रणाली को प्रभावित कर सकती हैं।

निम्न रक्तचाप (low blood pressure) भी विभिन्न दवाओं का एक दुष्प्रभाव (side effect) हो सकता है। उच्च रक्तचाप (hypertension) (high blood pressure) के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवा अंततः रक्तचाप (hypotension) को कम कर सकती है।

हाइपोटेंशन के लक्षण क्या हैं? (What are the symptoms of hypotension?)

हाइपोटेंशन (hypotension) वाले लोगों में कोई लक्षण नहीं दिखता हैं और उनका स्वास्थ्य अच्छा हो सकता है। हालांकि, हाइपोटेंशन (hypotension) कुछ अन्य अंतर्निहित स्वास्थ्य स्थितियों जैसे एनाफिलेक्सिस (anaphylaxis) या कुछ मामलों में हार्मोनल असंतुलन (hormonal imbalance) का संकेत दे सकता है। निम्न रक्तचाप (low blood pressure) के सामान्य लक्षणों में शामिल हैं:-

  • सिर चकराना (Dizziness)
  • चक्कर (Lightheadedness)
  • बेहोशी (Fainting)
  • ठंडी, सूखी, पीली या चिपचिपी त्वचा (Cold, dry, pale, or clammy skin)
  • छाती में दर्द (Chest pain)
  • गर्दन में अकड़न के साथ सिरदर्द (Headache with a stiff neck)
  • बुखार (Fever)
  • दस्त (Diarrhoea)
  • दृष्टि परिवर्तन (Vision changes)
  • उल्टी (Vomiting)
  • सांस लेने में कठिनाई (Difficulty in breathing)
  • सूजन जैसी एलर्जी प्रतिक्रियाएं (Allergic reactions like swelling)
  • थकान (Fatigue)
  • निर्जलीकरण या अत्यधिक प्यास का अहसास (Dehydration or feeling of excessive thirst)
  • कमज़ोरी (weakness)
  • दिल की लय में उतारचढ़ाव (Fluctuations in heart rhythm)

थोड़ा निम्न रक्तचाप (low blood pressure) का होना चिंता की बात नहीं है। हालांकि, यदि आपको अत्यधिक निम्न रक्तचाप (low blood pressure) है, तो यह जीवन के लिए खतरनाक स्थिति पैदा कर सकता है। अत्यधिक निम्न रक्तचाप (low blood pressure) तब हो सकता है जब आपका शरीर खून (blood) की कमी या सेप्टिक शॉक (septic shock) के कारण सदमे (shock) का अनुभव करता है, या एक एनाफिलेक्टिक (anaphylactic) प्रतिक्रिया जो एक गंभीर संक्रमण (serious infection) का कारण हो सकता है। गंभीर संक्रमण (serious infection) के कारण आपको जिन कुछ लक्षणों का अनुभव हो सकता है उनमें शामिल हैं:

  • तेजी से उथली श्वास (Rapid shallow breathing)
  • तेज और कमजोर नाड़ी (Rapid and weak pulse)
  • भ्रम, खासकर बुजुर्ग लोगों में (Confusion, especially in elderly people)
  • चिपचिपी, ठंडी या पीली त्वचा (Clammy, cold, or pale skin)

क्या रक्तचाप के लक्षण को कम किया जा सकता है? (Can the symptoms of blood pressure be reduced?)

आपकी जीवनशैली, आहार (diet) और जीवनशैली में कुछ संशोधन (modifications) निम्न रक्तचाप (low blood pressure) या हाइपोटेंशन (hypotension) के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं। नेशनल हेल्थ सोसाइटी (National Health Society) (एनएचएस) के अनुसार, निम्न रक्तचाप (low blood pressure) के लक्षणों को कम करने के लिए आपको जिन कुछ सुझावों का पालन करना चाहिए, उनमें शामिल हैं:

  • अपनी मुद्रा (posture) को धीरेधीरे बदलें, यानी बैठने की स्थिति से बहुत धीरेधीरे खड़े हो जाएं
  • अपने सिर को लगभग 15 सेमी ऊंचाई (6 इंच) पर ऊपर रखने के लिए अपने बिस्तर के नीचे ईंटें रखें
  • बारबार और थोड़ेथोड़े भोजन करने की आदत डाले
  • खाना खाने के बाद कुछ देर लेटने या बैठने की स्थिति में रहें
  • अपने आप को हाइड्रेट (hydrate) रखें यानी पानी का सेवन बढ़ा दें।

इन बिंदुओं के अलावा, कुछ ऐसी चीजें हैं जिनसे आपको बचने की जरूरत है ताकि आपको निम्न रक्तचाप (low blood pressure) के लक्षण अक्सर महसूस हों। इन चीजों में शामिल हैं:-

  • बहुत देर तक बैठने या खड़े होने की स्थिति में रहें
  • अचानक से अपना आसन (position) बदलें
  • नीचे झुकने से बचें
  • रात में कैफीनयुक्त पेय पदार्थों (caffeinated beverages) के सेवन से बचें
  • अत्यधिक शराब (alcohol) के सेवन से बचें

हाइपोटेंशन के कारण क्या हैं? (What are the causes of hypotension?)

विभिन्न कारणों से रक्तचाप (blood pressure) में कमी सकती है। ये कारक आपके खाने की योजना जितने छोटे या अंतर्निहित हृदय रोग जितने बड़े हो सकते हैं। हाइपोटेंशन (hypotension) के बहुत सारे स्थायी या अस्थायी कारण हो सकते हैं।

हाइपोटेंशन के अस्थायी कारण (Temporary causes of hypotension)

अस्थायी कारणों से तात्पर्य उन कारकों से है जो हमेशा के लिए एक जैसे नहीं रहते हैं। ऐसे मामलों में, रक्तचाप (blood pressure) कुछ समय के लिए कम हो जाता है और फिर स्थिति अनुकूल होने पर वापस सामान्य हो जाता है। आहार (diet) में बदलाव, जीवनशैली प्रबंधन और अपना ख्याल रखने से अस्थायी कारकों के कारण होने वाले निम्न रक्तचाप (low blood pressure) को दूर किया जा सकता है। अमेरिकन हेल्थ एसोसिएशन (American Health Association) (एएचए) के अनुसार, हाइपोटेंशन (hypotension) के अस्थायी कारणों में शामिल हैं:-

  • निर्जलीकरण (Dehydration), या शरीर में पानी की कमी
  • खाने के तौरतरीकों में बदलाव, जैसे उपवास रखना या सख्त आहार का पालन करना
  • अपने आप पर बहुत अधिक दबाव डालना
  • गर्भावस्था (pregnancy) के दौरान भी रक्तचाप (blood pressure) कम हो जाता है
  • लंबे समय तक बिस्तर पर आराम करना
  • शराब (alcohol) का सेवन भी निम्न रक्तचाप (low blood pressure) का कारण बन सकता है।

हाइपोटेंशन के स्थायी कारण (Lasting causes of hypotension)

स्थायी कारण उन गंभीर कारकों को कहते हैं जो आपके जीवन में स्थायी होते हैं। अमेरिकी स्वास्थ्य संघ (American Health Association) (एएचए) के अनुसार, हाइपोटेंशन (hypotension) के संभावित स्थायी कारणों में शामिल हैं:

  • फोलिक एसिड (folic acid) (विटामिन बी 12) जैसे पोषक तत्वों (nutrients) की कमी से निम्न रक्तचाप (low blood pressure) हो सकता है
  • यदि आप लंबे समय तक खड़े रहने की स्थिति में हैं तो निम्न रक्तचाप (low blood pressure) हो सकता है
  • अंतःस्रावी तंत्र (endocrine system) में कोई समस्या, यानी आपके शरीर में हाइपोथायरायडिज्म (hypothyroidism) जैसे हार्मोन (hormones) का नियमन भी हाइपोटेंशन (hypotension) का कारण बन सकता है
  • हृदय (heart) की कुछ समस्याएं उस बल को भी प्रभावित कर सकती हैं जिससे हृदय (heart) आपके शरीर में रक्त (blood) को धकेलता है
  • सेप्टिक शॉक (Septic shock), कुछ जीवाणु संक्रमण (bacterial infections) के लिए जानलेवा या गंभीर प्रतिक्रिया, हाइपोटेंशन (hypotension) का कारण भी बन सकती है
  • गंभीर एलर्जी (allergic) प्रतिक्रिया के कारण होने वाली एनाफिलेक्सिस (anaphylaxis) की एक जीवन के लिए खतरनाक  जटिलता (complication), जिसे एनाफिलेक्टिक शॉक (anaphylactic shock) के रूप में जाना जाता है, हाइपोटेंशन (hypotension) का कारण भी बन सकती है
  • चोट (injury) या दुर्घटना (accident) के दौरान अत्यधिक रक्त की हानि (blood loss) भी निम्न रक्तचाप (low blood pressure) का कारण बन सकती है

दवाएं जो हाइपोटेंशन का कारण बन सकती हैं (Medicines that can cause hypotension)

निम्न रक्तचाप (Low blood pressure) कुछ दवाओं का दुष्प्रभाव (side effect) हो सकता है। निम्न रक्तचाप (Low blood pressure) का कारण बनने वाली दवाओं में शामिल हैं:-

  • ओल्मेसार्टन मेडोक्सोमिल या बेनिकार (Olmesartan medoxomil or Benicar) (रक्तचाप (blood pressure) के लिए निर्धारित दवा)
  • तडालाफिल या सियालिस (Tadalafil or Cialis) (स्तंभन दोष (erectile dysfunction) के लिए दी जाने वाली दवा)
  • डुलोक्सेटीन या सिम्बाल्टा (Duloxetine or Cymbalta) (एसएनआरआई एंटीड्रिप्रेसेंट, यानी सेरोटोनिन और नोरेपीनेफ्राइन अवरोधक)
  • हाइड्रोक्लोरोथियाजाइड (Hydrochlorothiazide) (जेनेरिक मूत्रवर्धक)
  • प्रोप्रानोलोल के संस्करण जैसे इनोप्रान एक्स्ट्रा लार्ज या इन्डरल (Versions of propranolol like innopran XL or Inderal) (बीटा ब्लॉकर्स)
  • फ़्यूरोसेमाइड या लासिक्स (Furosemide or lasix) (मूत्रवर्धक)
  • लेवोडोपा (Levodopa) (जेनेरिक पार्किंसंस रोग की दवा)
  • प्राज़ोसिन या मिनीप्रेस (Prazosin or minipress) (अल्फा ब्लॉकर्स)
  • प्रामिपेक्सोल या मिरापेक्स (Pramipexole or Mirapex) (पार्किंसंस रोग में इस्तेमाल की जाने वाली दवा)
  • एटेनोलोल या टेनोर्मिन (Atenolol or Tenormin) (अल्फा ब्लॉकर)
  • डॉक्सिपिन या सिलेनोर और इमीप्रैमीन या टोफ्रेनिल (Doxepin or silenor and imipramine or Tofranil) (ट्राइसाइक्लिक एंटीड्रिप्रेसेंट्स)
  • सार्टन परिवार की दवाएं जैसे वाल्सर्टन (Drugs of the sartan family like valsartan) (रक्तचाप (blood pressure) की दवाएं)
  • सिल्डेनाफिल या वियाग्रा (Sildenafil or Viagra) (स्तंभन दोष (erectile dysfunction) के लिए दवा

हाइपोटेंशन का इलाज कैसे किया जाता है? (How is hypotension treated?)

हाइपोटेंशन (hypotension) के इलाज में प्रमुख कदम में हाइपोटेंशन (hypotension) के कारण का निदान (diagnosing) करना शामिल है। हाइपोटेंशन (hypotension) के मुख्य कारण से निपटने से हाइपोटेंशन (hypotension) अपने आप ठीक हो सकता है। हाइपोटेंशन (hypotension) के उपचार के विभिन्न तरीकों में शामिल हैं:

1. रक्त की मात्रा में वृद्धि (Increasing blood volume)

कभीकभी आपके शरीर में रक्त के स्तर (blood level) में कमी के कारण हाइपोटेंशन (hypotension) हो सकता है। इसलिए द्रव पुनर्जीवन (fluid resuscitation) यानी आपके शरीर में अंतःशिरा तरल पदार्थ (fluid), रक्त (blood) या प्लाज्मा (plasma) आधान (transfusion) के माध्यम से द्रव जलसेक (fluid infusion), रक्त की मात्रा (blood level) बढ़ाने और निम्न रक्तचाप (low blood pressure) का इलाज करने में मदद कर सकता है।

2. रक्त वाहिकाओं को संकुचित करना (Making blood vessels constrict)

कुछ दवाएं आपके शरीर में रक्त वाहिकाओं (blood vessels) को संकुचित करके रक्तचाप (blood pressure) को बढ़ाने में मदद कर सकती हैं। इस प्रकार, ये दवाएं उच्च रक्तचाप (high blood pressure) की दवाओं की तुलना में विपरीत रूप से काम करती हैं जो आपके शरीर में रक्त वाहिकाओं (blood vessels) को आराम देकर काम करती हैं।

3. आपका शरीर तरल पदार्थों को कैसे संभालता है, इसमें बदलाव (Changes in how your body handles fluid)

कुछ दवाएं गुर्दे (kidney) के कार्य में बाधा डालती हैं, जिससे वे आपके शरीर में अधिक नमक और तरल पदार्थ (fluid) बनाए रखती हैं। इस प्रकार, शरीर में द्रव (fluid) की मात्रा बढ़ने से निम्न रक्तचाप (low blood pressure) को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने में मदद मिलती है।

निम्न रक्तचाप को स्वाभाविक रूप से कैसे बढ़ाएं? (How can low blood pressure be raised naturally?)

ऐसे कई घरेलू उपचार हैं जिन्हें आप अपने दैनिक आहार (diet) में स्वाभाविक रूप से अपने रक्तचाप (blood pressure) को बढ़ाने के लिए शामिल कर सकते हैं। इनमें से कुछ प्राकृतिक (natural) घरेलू उपचारों (home remedies) में शामिल हैं:

  • अपने दैनिक आहार (diet) में अधिक सोडियम (sodium) या नमक शामिल करें
  • शराब (alcohol) या मादक पेय पदार्थों (alcoholic beverages) के सेवन से बचें
  • अपने चिकित्सक से उन सभी दवाओं के बारे में चर्चा करें जो आप ले रहे हैं क्योंकि निम्न रक्तचाप (low blood pressure) आपके द्वारा ली जा रही किसी भी दवा का दुष्प्रभाव (side effect) हो सकता है
  • पैरों को मोड़कर या पालथी लगाकर (cross leg) बैठे। यह आपके रक्तचाप (blood pressure) को बढ़ा सकता है
  • ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ (fluids) लेकर खुद को हाइड्रेट (hydrate) रखें
  • अपने आहार (diet) में थोड़ीथोड़ी और नियमित भोजन को शामिल करें
  • अपने निचले पैरों या पैरों में खून (blood) की मात्रा को कम करने के लिए संपीड़न मोज़ा (stockings) पहनें
  • अचानक या झटके से अपने आसन (posture) बदलने से बचें
  • निम्न रक्तचाप (low blood pressure) के लक्षणों से अवगत रहें और यदि आप स्वयं उन्हें नोटिस करते हैं तो अपने डॉक्टर से परामर्श लें

निष्कर्ष (Takeaway)

हाइपोटेंशन (hypotension) या निम्न रक्तचाप (low blood pressure) एक सामान्य स्थिति है जो ज्यादातर लोगों में होती है। हाइपोटेंशन (hypotension) के लक्षणों का प्रबंधन करना और स्वस्थ जीवनशैली का नेतृत्व करने के लिए प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से उनका इलाज करना महत्वपूर्ण है। अब जब आप जानते हैं कि हाइपोटेंशन (hypotension) क्या है, इसके लक्षण, कारण, लक्षणों को कम करने के तरीके और उपचार, तो आप अपनी स्थिति को बेहतर ढंग से समझ पाएंगे और सही समय पर सही उपचार प्राप्त कर पाएंगे। 

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (एफएक्यू) (Frequently Asked Questions)

1. निम्न रक्तचाप हाइपोटेंशन का क्या कारण बनता है? (What causes low blood pressure hypotension?)

हाइपोटेंशन (hypotension) विभिन्न कारणों से हो सकता है जैसे कि कुछ दवाओं के दुष्प्रभाव (side effects), जीवनशैली और आहार संबंधी कारक भी शामिल हैं।

2. निम्न रक्तचाप आमतौर पर क्या दर्शाता है? (What does low blood pressure usually indicate?)

निम्न रक्तचाप (low blood pressure) इंगित करता है कि आपकी धमनियों में रक्त उस बल के साथ नहीं बह रहा है जिसके साथ उसे सामान्य रूप से बहना चाहिए।

3. खतरनाक रूप से निम्न रक्तचाप क्या माना जाता है? (What is considered dangerously low blood pressure?)

90/60 mm Hg एचजी को बेहद निम्न रक्तचाप (low blood pressure) माना जाता है।

Share

Prekshi Garg is a young, dynamic, energetic, and meritorious professional biotechnologist. She is a merit rank holder in her post-graduation and a skilled bioinformatician with great zeal to do her best in neurosciences. She is currently working in the area of Neurotranscritomics dealing with neurodevelopmental and neurodegenerative disorders. She has presented many papers at different scientific forums and is awarded ‘Representing the Institution in Scientific Events’ citation by Amity University Uttar Pradesh and Top position in Student Assistantship Program held at Amity University in addition to awards won for oral presentations in different scientific deliberations. Prekshi has published a good number of papers and book chapters during the start of her academic career itself. Her tremendous skills and knowledge make her a good blend of biotechnology and bioinformatics.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Free Call back from our health advisor instantly